कुडनकुलम न्यूक्लियर प्लांटों के विरोध-प्रदर्शन के पीछे अमेरिकी गैर-सरकारी संगठन: प्रधानमंत्री



दिल्ली:प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि कुडनकुलम में बन रहे न्यूक्लियर प्लांटों के विरोध-प्रदर्शन के पीछे अमेरिकी गैर-सरकारी संगठन हैं। प्रधानमंत्री ने एक इंटरव्यू में कहा, ‘ कुडनकुलम प्लांट के सामने आ रहीं कठिनाइयों के लिए कुछ अमेरिकी एनजीओ जिम्मेदार हैं। ‘साइंस’ मैग्जीन से इस प्रॉजेक्ट पर बात करते हुए पीएम ने कहा,’अमेरिका के एनजीओ रूस की मदद से चलाए जा रहे परमाणु ऊर्जा कार्यक्रम के रास्ते में रोड़े अटका रहे हैं। ये एनजीओ भारत की ऊर्जा जरूरतों को अनदेखा करते हुए स्थानीय एनजीओ के जरिए विरोध-प्रदर्शनों को हवा दे रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘कुछ एनजीओ भारत की बढ़ती ऊर्जा जरूरतों की कद्र नहीं करते। परमाणु ऊर्जा कार्यक्रम में इन गैर-सरकारी संगठनों के कारण कठिनाई आई है, जिनमें मैं मानता हूं कि ज्यादतर अमेरिका से संचालित हैं।’ गौरतलब है कि तमिलनाडु के कुडनकुलम में 1000 मेगावाट के दो परमाणु प्लांटों में काम विरोध-प्रदर्शनों के चलते रुका हुआ है।

Leave a Reply


( Not More than 200 words)