सीट बेल्ट व हेलमेट की तरह वैक्सीन करती शरीर की सुरक्षा एसडीएम-सुश्री आरती

 -कोविड टीकाकरण के जागरूकता को लेकर रक्सौल एसडीएम के नेतृत्व में कर रहे है अनुमंडल के तमाम अधिकारीगण मेहनत, सफल बनाने को लेकर हुई बैठक





 रक्सौल, पूर्वी चम्पारण, बिहार 

कोविड 19 का टीकाकरण संक्रमण काल में सुरक्षा कवच है 

 वैश्विक महामारी से बचाव को लेकर रक्सौल अनुमंडल में टीकाकरण अभियान को सफल बनाने हेतु अनुमंडल कार्यालय में अनुमंडल पदाधिकारी आरती की अध्यक्षता में अनुमंडल के सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी व चिकित्सा पदाधिकारियों के साथ गुरुवार को बैठक आयोजित की गई। 

रक्सौल एसडीएम सुश्री आरती ने कहा कि लोगों को कोविड-19 टीकाकरण के लिए प्रेरित करें।जिस प्रकार पोलियो आदि टीकाकरण की सफलता में आप सबो का सहयोग अनुमंडल प्रशासन को मिला है, उसी प्रकार सभी लोगों को कोरोना टीकाकरण के लिए प्रेरित करें तथा कई प्रकार की भ्रांतियो को दूर करें। संक्रमण काल में अगर हमने टीका लिया है तो संक्रमण का खतरा बहुत कम हो सकता है। 

एसडीएम ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण कराया जा रहा है, लेकिन शत प्रतिशत लोगों के द्वारा टीका नहीं लिया जा रहा है, जो चिता का विषय है। लोगों को समझाए कि जिस प्रकार वाहन चलाने में सीट बेल्ट,हेलमेट शरीर की रक्षा करती हैं, उसी प्रकार टीकाकरण कोरोना से रक्षा करने में पूर्ण रूप से सक्षम है।

अधिकारियों से कहा कि अगले दिन से सघन अभियान चलाकर वैसे जगहों पर व्यापक प्रचार-प्रसार करके ताकि  टीकाकरण को सफल बनाया जाये। जहां लोग टीकाकरण को लेकर जागरूक नहीं है। सरकार द्वारा वैक्सीन बिल्कुल मुफ्त दिया जा रहा है, जो पूरे तरह से सुरक्षित और लाभदायक है। इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं है।

मौके पर कार्यपालक दंडाधिकारी संतोष कुमार सिंह, रक्सौल बीडीओ संदीप सौरभ, प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी नागेश्वर कुमार सहित अन्य प्रखंडों के पदाधिकारी मौजूद थे।

************************************************

-बीआरसी में हो रहे टीकाकरण का एसडीओ ने किया निरीक्षण



 रक्सौल

 स्थानीय बीआरसी में दूसरे दिन भी विभाग के निर्देशानुसार शिक्षकों एवं उनके परिवारों का टीकाकरण किया गया। जिसमें सरकारी व गैरसरकारी शिक्षक व उनके परिवार सम्मिलित हुए। इस दौरान स्थानीय एसडीएम आरती ने बीआरसी पहुच कर टीकाकरण का निरीक्षण कर आवश्यक दिशा-निर्देश दी। वहीं उन्होंने कहा कि टीकाकरण अभियान को हर हाल में सफल बनाना है, इसलिए सभी शिक्षक व उनके परिवार निश्चित रूप से टीका लें। चाहे वे सरकारी हो या गैर सरकारी। उन्होंने कहां की टीकाकरण लेने आने वाले लोगों के साथ मित्रवत व्यवहार करना है। टीका लेने वाले लोगों को किसी भी तरह का परेशानी न हो इसका ख्याल रखना है। इस दौरान कार्यपालक दंडाधिकारी संतोष सिंह, बीडीओ संदीप सौरभ, यूनिसेफ के बीएमसी अनिल कुमार, प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी नागेश्वर कुमार, बीआरपी मनोज कुमार, छोटेलाल राय व हृदयेश गुप्ता आदि मौजूद थे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ