बारिश से बढ़ा सिकरहना का जलस्तर

 


मोतिहारी।

 मंगलवार की रात्रि की  बारिश से सुगौली प्रखंड के शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों सूरत बदल कर रख दिया है। जन-जीवन अस्त-व्यस्त है। लोग अपनी रोजमर्रा की जिदगी घरों में दुबककर बिताने को विवश हैं। कई गांव के सड़को पर जलजमाव व कीचड़ हो जाने से लोगों को आने-जाने में भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। लोग अपनी घरेलू सामान की खरीदने के लिए बाजार नहीं जा पा रहे हैं। पशुपालकों को अपने पशुओं के लिए चारा की व्यवस्था करने में काफी कठिनाई हो रही है।

जलस्तर बढ़ने से कटाव सिकरहना नदी में लगातार पानी बढ़ने से नदी के तट पर कटाव की खबर है। जिससे क्षेत्रवासियों के दिलों-दिमाग में बाढ़ का खौफनाक मंजर का अंदेशा एक बार फिर बढ़ गया है। सिकरहना नदी के किनारे बसे गांवों में लोग चितित व सहमे हुए हैं। प्रखंड के लालपरसा व भवानीपुर में कटाव जारी है। वही डुमरी, तेलहिया, बिगूइया, कोना, सपहा, लक्ष्मीपुर, नयका टोला में कटाव को लेकर लोग चितित हो गए है।

टूटे बांध का नहीं हुआ है मरम्मत प्रखंड मुखिया संघ अध्यक्ष अंगद चौरसिया ने बताया कि टूटे बांध का मरम्मत अभी नहीं कराया गया है। कई बार अधिकारियों से कहा गया, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। कहते हैं लोग सुनील सहनी, रवि पटेल,रंजन सहनी, एकराम हुसैन,अंगद सहनी, धर्मेंद्र गुप्ता,देवलाल सहनी, दीपू मिश्र,शिवकुमार सहनी, विधायक यादव,राजेन्द्र सहनी सहित कई लोगों ने बताया कि जब क्षेत्र में बाढ़ आ जाती है तो जनप्रतिनिधि व अधिकारी रिग बांध की मरम्मत करने के बात करने लगते है और केवल खानापूर्ति कर दी जाती है, लेकिन स्थायी निदान के लिए कोई कदम नहीं उठाया जाता है। स्थानीय विधायक ई. शशि भूषण सिंह ने कहा कि बहुत जल्द ही बांध का मरम्मत हो जाएगा और नदी से कटाव से बचाव के लिए आवश्यक कदम उठाया जाएगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ