हमारा उद्देश्य, घर-घर इग्नू, हर घर इग्नू-अनिल

 


रक्सौल, पूर्वी चम्पारण बिहार

 बुधवार को केसीटीसी कॉलेज रक्सौल के इग्नू अध्ययन केंद्र के तत्वाधान जनवरी 2021 सत्र में नामांकित विद्यार्थियों के लिए वर्चुअल इंडक्शन का आयोजन हुआ। वर्चुअल इंडक्शन आयोजित कार्यक्रम के मुख्य अतिथि इग्नू के क्षेत्रीय केंद्र दरभंगा के वरीय निदेशक डां शंभू शरण सिंह ने कहा कि समाज व देश की तरक्की शिक्षा पर निर्भर है। जिस देश के लोग जितने अधिक साक्षर होंगे वह देश उतनी ही तेजी से विकास की ओर बढ़ेगा। शिक्षा के स्तर को बढ़ाने के लिए जरूरी है कि यह आम आदमी की पहुंच में हो। योजनाएं ऐसी हों कि गरीब और मध्यम परिवार के लोग भी उच्च शिक्षा से जुड़े रहें। आर्थिक स्थित इसमें बाधा नहीं बन सके। मौजूदा परिवेश की बात करें तो लोगों को निरक्षरता के अंधेरे से साक्षरता के प्रकाश की ओर ले जाने में इग्नू महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। नए सत्र से इग्नू ने एससी व एसटी के विद्यार्थियों की कोर्स फीस माफ कर बड़ी राहत दी है। इसके अलावा अन्य विश्वविद्यालयों की तुलना में उनकी बेहद वाजिब फीस के कारण लोग उच्च शिक्षा के अपने सपने को साकार कर रहे हैं। करियर के सभी क्षेत्रों उच्च शिक्षा पाने के लिए इग्नू में आप डिस्टेंस मोड में काम करते हुए पढ़ाई कर सकते हैं। दूसरी अच्छी बात यह है कि इग्नू से मिली डिग्रियों को पूरे भारत में मान्यता मिलती है। लेकिन यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि इग्नू सुविधायें तो देता है पर वहां होने वाले कोर्स और परीक्षाओं का स्तर कठिन माना जाता है। आपको पास करने के लिये मेहनत करनी होगी। इग्नू जो उच्च, तकनीकी एवं व्यावसायिक शिक्षा प्रदान करने वाला ना केवल विद्यार्थी संख्या की दृष्टि से बल्कि अध्ययन गुणवत्ता की दृष्टि से भी विश्व का सबसे बड़ा विश्वविद्यालय है। इसे गत जनवरी में नेट द्वारा ए प्लस प्लस ग्रेड प्राप्त हुआ है। डॉ सिंह ने कहा कि इग्नू विद्यार्थियों के घर-घर तक शिक्षा को पहुंचाता है। कोरोना काल में भी इग्नू ने शिक्षा के लिए सराहनीय कार्य किया है। 



मुख्य वक्ता सहायक निदेशक डॉ राजीव कुमार ने कहा कि इंडक्शन कार्यक्रम विविध जानकारी प्रदान कर विद्यार्थियों को अध्ययन के लिए प्रेरित करता है। उन्होंने नामांकित छात्र छात्राओं को इग्नू से जुड़ी सारी व्यवस्थाओं की जानकारी दी। नामांकन , पाठ्यपुस्तकें वितरण असाइनमेंट जमा करने, परीक्षा फ़ॉर्म जमा करने की पुरी जानकारी दी। 



विशिष्ट अतिथि केसीटीसी कॉलेज के इग्नू समन्वयक प्रोफेसर  डॉ. अनिल कुमार सिन्हा ने कहा कि विश्व स्तरीय अध्ययन सामग्री की उपलब्धता कराने वाला इग्नू विद्यार्थियों को ना केवल प्रमाण पत्र बल्कि उत्तम शिक्षा भी देता है। उन्होंने सीमावर्ती एवं शिक्षा की दृष्टि से अति पिछड़े क्षेत्र के लिए वरदान साबित हुआ है।  उन्होंने इस केन्द्र पर हर सहयोग देने के लिए क्षेत्रीय निदेशक डा. शंभूशरण सिंह एवं सहायक निदेशक डा. राजीव कुमार का स्वागत करते हुए आभार व्यक्त किया। 

विशिष्ट वक्ता के.सी.टी.सी कॉलेज इग्नू के सहायक समन्वयक डॉक्टर अनिल कुमार ने कहा कि उनका उद्देश्य घर-घर इग्नू, हर घर इग्नू के माध्यम से शहरों से लेकर गांवों के हर घर में उच्च शिक्षा की लौ जगाना है। इंडक्शन कार्यक्रम से छात्र अपने साथियों एवं शिक्षकों से जोड़ते हैं। 



अध्यक्षीय संबोधन में प्राचार्य डा.  जयनारायण प्रसाद ने कहा कि इग्नू अंतरराष्ट्रीय विश्वविद्यालय है। जो शिक्षा का लोकतंत्रिककरण कर उसे छात्रों के द्वार तक पहुंचाता है। उन्होंने छात्रों को सौभाग्यशाली बताते हुए कहा कि इग्नू की अध्ययन सामग्री के अध्ययन से उनके शैक्षणिक जीवन में क्रांतिकारी परिवर्तन आएगा। धन्यवाद ज्ञापन निशांत सिंह ने किया। प्रेरणा सत्र में संजीत कुमार, राहुल राउत, श्रीकिशुन प्रसाद, ई० रत्नेश कुमार सिन्हा, ऋष्टि गुप्ता,अभिषेक कुमार, वीना कुमारी,मोमित लाल, उज्ज्वल सिंह ,आफ़ताब आलम, तबस्सुम जहां ,राजू कुमार पंडित, सुजित ओझा ,दिपू यादव सहित सैंकड़ों विद्यार्थी जुड़े थे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ